IGCSE Hindi (Second Language) Paper-2: Specimen Questions with Answers 90 - 97 of 100

Passage

IGCSE Hindi paper 2-Audio 11

Audio file 11 for IGCSE Hindi.

Question 90 (5 of 5 Based on Passage)

Edit

Write in Brief

One Liner▾

फ़ैशन सराहनीय कब होता हैं?

Explanation

फ़ैशन सराहनीय जब होता हैं तब फ़ैशन मर्यादा में रहें और व्यर्थ उत्तेजना पैदा न करें।

Passage

IGCSE Hindi paper 2- Audio 16

Audio file 16 for IGCSE Hindi.

Question 91 (1 of 5 Based on Passage)

Edit

Write in Brief

One Liner▾

परशुराम जी के पिता का क्या नाम था?

Explanation

परशुराम जी के पिता का नाम ऋषि जमदग्नि नाम था।

Question 92 (2 of 5 Based on Passage)

Edit

Write in Brief

One Liner▾

परशुराम जी ने किस बात की प्रतिज्ञा की।

Explanation

परशुराम जी ने पृथ्वी को क्षत्रिय विहीन करने की प्रतिज्ञा की।

Question 93 (3 of 5 Based on Passage)

Edit

Write in Brief

One Liner▾

जमदग्नि के पास किस प्रकार की गाय थी?

Explanation

जमदग्नि के पास विशेष प्रकार सभी कामनाएँ पूरी करने वाली कामधेनु गाय थी।

Question 94 (4 of 5 Based on Passage)

Edit

Write in Brief

One Liner▾

कार्तवीर्य ने किसका बलपूर्वक अपहरण कर लिया?

Explanation

कार्तवीर्य ने कामधेनु गाय का बलपूर्वक अपहरण कर लिया।

Question 95 (5 of 5 Based on Passage)

Edit

Write in Brief

One Liner▾

राजा कार्तवीर्य सहसबाहु शिकार खेलते हुए किसके आश्रम में आए?

Explanation

राजा कार्तवीर्य सहसबाहु शिकार खेलते हुए जमदग्नि के आश्रम में आए।

Passage

IGCSE Hindi paper 2-Audio 17

Audio file 17 for IGCSE Hindi.

Question 96 (1 of 5 Based on Passage)

Edit

Write in Brief

One Liner▾

प्रस्तुत कहानी के अनुसार सैनिको को निर्देश कौन दे रहा था?

Explanation

प्रस्तुत कहानी के अनुसार सैनिको को निर्देश कमांडर दे रहा था।

Question 97 (2 of 5 Based on Passage)

Edit

Write in Short

Short Answer▾

कमांडर ने घुड़सवार व्यक्ति को क्या उत्तर दिया एवं वह घुड़सवार व्यक्ति कौन था तथा प्रस्तुत कहानी का मंत्र क्या हैं?

Explanation

कमांडर ने घुड़सवार व्यक्ति को कहा कि मैं इनका कमांडर हूं। मेरा काम निर्देश देना है, इनके साथ काम करना नहीं। अगर तुम्हें तकलीफ है तो तुम स्वयं इनकी मदद कर दों। वह घुड़सवार व्यक्ति जॉर्ज वाशिंगटन थे। प्रस्तुत कहानी का मंत्र यह है कि “नेतृत्व तभी सफल होगा जब वह अपनी टीम की जरूरतें समझेगा।”

Choose Paper