IGCSE Hindi (Second Language) Paper-1: Specimen Questions with Answers 141 - 141 of 143

Question number: 141

Edit

Essay Question▾

Describe in Detail

आज का संगीत सिर्फ़ शोर है?

आपके स्कूल में एक वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है जिसका विषय है ‘आज का संगीत सिर्फ़ शोर है और कुछ नहीं’। आप इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेना चाहते हैं। अपने विचारों को विषय के पक्ष में प्रस्तुत करने के उद्देश्य से उत्तर लिखिए।

आपका उत्तर 150 या 200 शब्दों से ज्यादा का नहीं होना चाहिए।

लिखित उत्तर पर अंक विषय संबंधी अंर्तवस्तु, शैली और सही भाषा लिखने पर दिए जाएंगे।

Explanation

आज का संगीत सिर्फ शौर है यह बात सही हैं। क्योंकि पहले जो संगीत आता था वह संगीत हमारे दिल तक पहुंचता था। सुनने में भी मधुर लगता हैं। ऐसा संगीत सुनकर लोग मंत्र मुक्ध हो जाते थें। आज भी अगर हम पहले के गाने सुनते हैं तो हमारा मन खुश हो जाता हैं। लेकिन अब सगींत का रूप ही बदल गया हैं केवल इनमें शौर के अलावा ओर कुछ है ही नहीं बच्चों से बड़ों तक के गाने सही रूप से नहीं आते हैं। कुछ गानों में तो केवल शौर ही होता और गाना भी समझ में नहीं आता हैं। न गानों के बोल समझ में आते हैं। लेकिन फिर भी आज की पीढ़ी इन्हीं गानों को पंसद करती हैं। भले ही उस गाने का कोई भी अर्थ न हो।

संगीत को हमें ऐसा सुनना चाहिए कि किसी को तकलीफ भी न हो और वो हमारे मन को खुश करें। संगीत एक आराधना है इसे ऐसे ही व्यर्थ मत किजिए। इसलिए संगीत को शौर का रूप मत दीजिए क्योंकि अगर ऐसा किया तो यह एक तरह से ध्वनि प्रदूषण में आता हैं। इस संगीत की पूजा किजिए और इसे शौर में न बदलिए।

Choose Paper